Bonus Share क्या होता है ? जानिए कंपनी कब bonus share कब जारी करती है ?

Bonus Share meaning

हैलो दोस्तों Investmantra में आपका स्वागत है | दोस्तों आज हम जानेगे की Bonus Share क्या होता है और कंपनी कब bonus share देती है क्या इससे निवेशक को कोई फायदा होता है ?आइये विस्तार में जानते है |

Bonus Share क्या होता है ? Bonus Share meaning in Hindi?

जब भी कोई कंपनी shareholder को उसके पहले के खरीदे हुए शेयर पर अतिरिक्त शेयर जारी करती है तो उस अतिरिक्त शेयर को bonus share कहा जाता है | Bonus share के मिलते ही वर्तमान निवेशको के शेयर की संख्या में वृद्धि होती है ,कंपनी द्वारा bonus share केवल मौजूदा इक्विटी और प्रीफरेंस शेयरों के शेयरधारकों को ही दिया जाता है |

 

Company द्वारा Bonus Share क्यों लाया जाता है?

जब भी कोई कंपनी Bonus share जारी करने का ऐलान करती है तो उसका सबसे बड़ा कारण कंपनी के बढ़ते हुए शेयर प्राइस को कम करना होता है ,ताकि ज्यादा से ज्यादा निवेशक कंपनी के शेयर के प्रति आकर्षित हो सके और उसे खरीद सके | Bonus share जारी करने से कंपनी के मार्किट कैप पर कोई असर नहीं पड़ता लेकिन इससे छोटे निवेशक को कंपनी में निवेश करने का अच्छा मौका मिल जाता है |

निवेशक को Bonus Share से होने वाले फायदे

  • कंपनी द्वारा Bonus share issue करने से निवेशक के पास जो शेयर होते है उनकी संख्या बढ़ जाती है
  • बोनस शेयर जारी करने से कंपनी का शेयर प्राइस लगभग आधा हो जाता है जिससे नए निवेशकों को पहले के मुकाबले कम दाम पर शेयर मिल जाता है जैसा की infosys ने 2018 बोनस शेयर जारी किया था जब उसकी कीमत 1000 रूपये प्रति शेयर थी ,और बोनस शेयर जारी करने के बाद उनकी कीमत 500 रूपये प्रति शेयर हो गई थी |
  • शेयर की संख्या बढ़ने से निवेशक को मिलने वाला dividend यानी लाभांश में बढ़ोतरी होती है आइये समझते है कैसे –dividend हमेशा face value के आधार पर मिलता है अगर आपको नहीं पता face वैल्यू क्या होता है तो आप यहाँ click करे | मान लीजिये किसी कंपनी xyz द्वारा 1:1 के अनुपात में बोनस शेयर जारी कर दिया गया है ,एक निवेशक है जिसके पास मौजूदा xyz कंपनी के 100 शेयर है बोनस शेयर जारी होने से उसके 100 शेयर अब 200 शेयर बन गए | तो अगर xyz कंपनी 2 रूपये प्रति शेयर डिविडेंड देती है तो bonus share मिलने से पहले निवेशक को 100 शेयर पर 100 *2 =200 dividend मिलता था वही बोनस शेयर के बाद वही डिविडेंड शेयर की संख्या बढ़ने से 200 *2 =400 दोगुना हो गया |

इस तरह कंपनी द्वारा बोनस शेयर जारी करने से निवेशकों को कई फायदे है |

क्या एक निवेशक को बोनस शेयर घोषित करने वाली कंपनी के शेयर को खरीदना चाहिएं?

जी इसका जवाब ना है केवल bonus share के आधार पर अगर आप किसी भी कंपनी के शेयर को खरीदना चाहेंगे तो यह उचित नहीं है किसी भी कंपनी को परखने का यह सही पैमाना नहीं है एक निवेशक को किसी भी कंपनी में तभी निवेश करना चाहिए जब वह उस कंपनी के business को भली भाँती समझता हो |

Conclusion

उम्मीद करते है आपको हमारा आजका यह पोस्ट अच्छा लगा होगा तो दोस्तों आज हमने सीखा की Bonus Share क्या होता है और उससे एक निवेशक को क्या लाभ होते है ? दोस्तों यदि आपका हमारी पोस्ट से संब्धित कोई भी सवाल या सुझाव हो तो हमे कमेन्ट करके जरूर बताये हम जल्द से जल्द आपके सवालों के जवाब और सुझावों पर अमल करने की कोशिश करेंगे |

 

 

 

Yogesh Singh

नमस्कार दोस्तों, मैं Yogesh , Investmantra (इंवेस्टमंत्रा ) का Author & Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Computer Graduate हूँ. मुझे Finance से सम्बंधित नयी नयी चीज़ों को सिखने के साथ साथ भारत सरकार की विभिन्न योजनाओ के बारे में दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरा 'उद्देश्य' है की भारत के प्रत्येक नागरिक को finance की knowledge होनी चाहिए |

View all posts by Yogesh Singh →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *