इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है- What is Intraday Trading in Hindi ?

Intraday meaning in hindi

Intraday meaning in hindi -हैलो दोस्तों ! आज हम जानेगे कि बाज़ार में पैसा कमाने के लिए जरुरी नहीं की आप को सालों साल इंतज़ार करना पड़े बल्कि स्टॉक मार्किट में इंट्राडे ट्रेडिंग एक ऐसा निवेश करने का तरीका है जिसके माध्यम से आप एक दिन के अंतराल में ही जान सकते है कि आपको मुनाफा हुआ है की नुकसान तो आज हम जानेगे की इंट्राडे ट्रेडिंग क्या होता है ? (Intraday meaning in hindi) आइये विस्तार में जानते है |

Intraday Trading क्या होता है – Intraday meaning in Hindi?

इंट्राडे जैसा की नाम से ही पता चलता है “दिन के अंतराल” तो ऐसे ट्रेड जिनको एक दिन के अंतराल में ही पूरा कर लिया जाता है इंट्राडे ट्रेडिंग कहलाता है | इंट्राडे में आप सुंबह 9:15 बजे से लेकर शाम 3 :30 बजे तक शेयर्स को खरीद व बेच सकते है |आपको इंट्राडे में सिर्फ एक दिन के अंतराल में ही अपना सौदा पूरा करना पड़ता चाहे आपको फायदा हो या नुक्सान आपको शाम 3:30 बजे तक अपनी पोजीशन को square off यानी बराबर करना पड़ता है |

आपने शेयर्स खरीदे है तो शाम तक आपको उसे बेचना होगा और अगर आपने Short Sell करके शेयर्स बेचे है तो शाम तक आपको उन्हें खरीदना होगा वरना आपकी पोजीशन auto square off हो जायेगी मतलब की बाजार के बंद होने पर जो शेयर्स का भाव होगा उसमे आपके शेयर्स बेच दिये जायंगे |

Note: अगर आपने short sell किया हुआ है और शाम तक आपने उन बेचे हुए शेयर्स को नहीं खरीदा तो आप Defaulter हो जाओगे जिसमे आपको Penalty देनी  पड़ेगी |

Intraday ट्रेडिंग कैसे करे ?

Intraday Trading करने के लिए आपके पास एक ट्रेडिंग अकाउंट का होना अनिवार्य है जो आप किसी भी ब्रोकर्स के पास खुलवा सकते है क्योकि शेयर्स के पैसो का लेन देन केवल ट्रेडिंग अकाउंट के माधयम से ही किया जाता है अधिक जानकारी के लिए आप हमारी ट्रेडिंग क्या होता है वाली पोस्ट देख सकते है और अगर आप Zerodha पर ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाना चाहते है तो यह पोस्ट देखे |

ज्यादा Volume वाले शेयर्स खरीदे –

आपको ऐसे शेयर्स खरीदने चाहिए जिसमे बहुत ज्यादा Volume हो अथार्थ ऐसे शेयर्स जो ज्यादा खरीदे और बेचे जाए ताकि आपको शेयर्स में Liquidity बनी रहे और आप जब चाहे उन्हें बेच सके |

हमेशा अपना Risk Manage करके चले –

शेयर्स खरीदेने से पूर्व अपना maximum loss और profit दिमाग में रख ले यदि इतना मुनाफा होगा तो में शेयर्स बेच दूंगा या फिर में ज्यादा से ज्यादा इतना नुकसान ही झेलूँगा इससे नीचे शेयर्स बेच दूंगा ज्यादा लालची न बने अपना Risk Manage करके चले |

Volatility वाले शेयर्स पर ही ध्यान दे –

अगर आप ऐसे शेयर्स खरीदेंगे जिसमे कोई movement ही नहीं है तो आप मुनाफा नहीं कमा पाएंगे ऊपर से आपको ब्रोकरेज भी देना होगा केवल उन्ही शेयर्स को खरीदे जिसमे मूवमेंट हो जिसके प्राइस ऊपर नीचे अथार्त Volatility हो तभी आप मुनाफा कमा पाएंगे |

इंट्रा डे ट्रेडिंग (Intraday Trading) के फायदे –

Daily Income कमाने का जरिया –

इस प्रकार के ट्रेड में आप दैनिक आय भी कमा सकते है जो की Long Term Investment में नहीं होस सकता है ,लेकिन आपको ट्रेडिंग को फुल टाइम समय देना होगा और अपने कौशल को बढ़ाना होगा तभी आप इसमें नियमित रूप से मुनाफा कमा पाएंगे |

Overnight Position का जोखिम –

शेयर बाजार में overnight position भी एक risk की तरह ही है मान लो रातो रात कोई हमला हो जाये या फिर कोई आर्थिक जगत की ऐसी खबर आ जाये जिससे अगले दिन बाजार में शेयर्स के दाम पिछले दिन की क्लोजिंग प्राइस से भी बहुत नीचे गिर जाए तो ऐसे में केवल निवेशक को नुकसान ही होता है | लेकिन इंट्राडे में सौदे एक दिन में ही पूरे कर लिए जाते है तो इसमें overnight position risk नहीं होता|

Margin Money की सुविधा –

Intraday ट्रेडिंग का सबसे बड़ा फायदा यह की आप कम निवेश में भी बड़ा ट्रेड ले सकते क्योँकि इसमें ब्रोकर 10 गुना से भी अधिक मार्जिन मनी दे देता है मान लीजिये आपके पास केवल 10 हज़ार ही है और आपका ब्रोकर आपको 10 गुना मार्जिन दे देता है तो आप 1 लाख तक के शेयर्स खरीद सकते है |

Short Selling की सुविधा –

आप सस्ते में शेयर खरीद कर महंगे में बेचने के अलावा Short Selling से भी पैसा कमा सकते है मान लीजिये आपको लगता है कि किसी शेयर में काफी गिरावट आने वाली है तो आप उस शेयर को बिना खरीदे भी बेच सकते है और जब शेयर का दाम में गिरावट आये तो उसे खरीदकर अपना मुनाफा कमा सकते है | मान लीजिये आपको लगता है रिलायंस कंपनी के शेयर जो की Rs 100 चल रहा है वह 99 का हो जायेगा तो आपने Rs 100 प्रति शेयर के हिसाब से 10,000 शेयर्स बेच दिए जो की आपको 10 लाख के पड़े अब मान लीजिये आप के मुताबिक़ वह शेयर Rs 99 प्रति शेयर हो गए तो आपने वह 10000 शेयर्स Rs 99 प्रति शेयर के हिसाब से खरीद लिए जो कि आपको Rs 99,0000 के पड़े जैसा की हमने देखा शेयर्स बेचने और खरीदने में Rs 10,000 का अतर है वही आपका मुनाफा भी है |

Intraday Trading में ध्यान देने वाली बाते (Intraday Trading tips in hindi)–

  • हमेशा बाजार का सम्मान करें और बाजार की दिशा के साथ ही अपना ट्रेड करें |
  • स्टॉप लॉस लगाना न भूले |
  • अफवाहों पर ध्यान न दे |
  • ट्रेड लेने से पहले Trend को जरूर देख ले |
  • ट्रेड करने से पहले हमेशा थोड़ा homework करें |
  • एक ट्रेड में 3% से अधिक पूंजी न खोएं |
  • हमेशा Risk Manage करके चले |
  • बाजार हमेशा सही ही होता है हम गलत हैं – इस सिद्धांत का पालन करें |

 

Intraday Trading के बारे में कुछ गलतफमियाँ –

भारत मे बहुत से लोगो के मन में इंट्राडे ट्रेडिंग के प्रति काफी गलत धारणाएं है | उन्हें लगता है कि यह सिर्फ एक जुआ है, और कितने ही लोग इसमें पैसा लगाकर बर्बाद हो चुके है। आइये जानते है वह सारी गलत धारणाएं –

  1. इंट्राडे ट्रेडिंग बहुत सारे पैसे बहुत कम समय में कमाने का एक जरिया है |
  2. इंट्राडे ट्रेडिंग एक जुआ है |
  3. हर कोई इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसा बना सकता है केवल CNBC देखकर |
  4. इंट्राडे ट्रेडिंग बिना किसी अध्ययन के की जा सकती है |
  5. निवेश करने के लिए आपको लाखो रुपये की आवश्यकता है |
  6. आपको पैसा केवल Bull मार्किट में ही बन सकता है |

Conclusion

इंट्राडे ट्रेडिंग नियमित रूप से पैसे कमाने का एक बहुत अच्छा जरिया है लेकिन इसमे 99% प्रतिशत लोग केवल नुकसान ही करते है क्योँकि बिना skills के आप ज्यादा देर तक मार्किट में नहीं टिक सकते | लेकिन असंभव कुछ भी नहीं अगर आप खुद पर काम करते है पूरा technical analysis करते है तो आप जरूर इसमें पैसा बना पायेगे | तो आज हमने सीखा कि इंट्राडे ट्रेडिंग क्या होता है -Intraday meaning in Hindi ?

आशा है आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होगी अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमे कमेंट कर सकते है |

Yogesh Singh

नमस्कार दोस्तों, मैं Yogesh , Investmantra (इंवेस्टमंत्रा ) का Author & Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Computer Graduate हूँ. मुझे Finance से सम्बंधित नयी नयी चीज़ों को सिखने के साथ साथ भारत सरकार की विभिन्न योजनाओ के बारे में दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरा 'उद्देश्य' है की भारत के प्रत्येक नागरिक को finance की knowledge होनी चाहिए |

View all posts by Yogesh Singh →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *