Mobile Banking क्या है ? इसके क्या फायदे और नुक्सान है.

Mobile Banking क्या है ? इसके क्या फायदे और नुक्सान है.

मोबाइल  बैंकिंग क्या है, दोस्तों  आज से कुछ साल  पहले  देखे  तो हमे अपने पैसे बैंक में  पैसा जमा करने  ,किसी के बैंक अकाउंट में पैसे भेजने या निकालने  हेतु खुद बैंक जाने की आवश्यकता पड़ती थी ,और इसी प्रक्रिया को पूरा करने के लिए हमे कभी कभी घंटो लाइन में भी खड़ा रहना पड़ता था,

अगर मैं  अपने बारे में  बात  करू तो  मुझे खुद स्कुल के समय में कभी ₹100  तो कभी ₹ 200 मिला करते बैंकिंग थे जिसे में सीधा अपने PNB बैंक account में घंटो लाइन में खड़े होकर जमा करवाता था ,

तो कभी सीधा बैंक के लंच ख़तम होते पहुँच जाता था ताकि कम लोगो की वजह से लाइन में खड़ा नहीं होना पड़ेगा ,लेकिन समय के साथ ये प्रक्रिया मोबाइल बैंकिंग के आने से काफी सरल और सुविधाजनक हो चुकी है

अब अगर आपको किसी को पैसे भेजने या कई भुक्तान करने के लिए बैंक से पैसे निकालने है तो इसके लिए बैंक जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती , यह सभी कार्य मोबाइल बैंकिंग के द्वारा बड़ी आसानी हो जाते है

तो दोस्तों आज की हमारी  पोस्ट मोबाइल बैंकिंग के बारे में है ,आज आप जानेगे की मोबाइल बैंकिंग क्या होता है ,मोबाइल बैंकिंग की सर्विसेज कितने प्रकार की होती है ,इसके क्या फायदे और नुक्सान है और आपको मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल करते समय किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिए ,आइये जानते है ,कृपया इस पोस्ट को पूरा ध्यानपूर्वक पढ़े-

Contents

मोबाइल बैंकिंग क्या है (What is Mobile Banking in Hindi)

अगर साधारण भाषा  में  कहे तो  मोबाइल  के माध्यम  से बैंक द्वारा पैसो के लेन देन की प्रक्रिया को ही मोबाइल बैंकिंग कहा जाता है ,इस पूरी प्रक्रिया को डिजिटल माध्यम से पूरा किया जाता है ,

यहॉं पर Hard Cash का इस्तेमाल नहीं किया जाता है ,सिर्फ एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में पैसो का लेन देन किया जाता है ,

मोबाइल बैंकिंग को आप इंटरनेट बैंकिंग का ही रूप मान सकते है ,इंटरनेट बैंकिंग में उपभोक्ताओं को मिलने वाली सभी सुविधाएं मोबाइल बैंकिंग में मौजूद हैं,यह प्रक्रिया बेहद सरल और सुविधाजनक है

आप कही पर भी बैठे हुए इस सेवा का लाभ उठा सकते है ,यहाँ तक की अगर आपके पास स्मार्टफोन और इंटरनेट कनेक्शन नहीं भी है तब भी आप मोबाइल बैंकिंग का लाभ उठा सकते है ,जिसके बारे में हम आगे जानेगे ,

मोबाइल बैंकिंग सेवाओं के प्रकार (Types of Mobile Banking Services

भारत में मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल करने के लिए ऐसे बहुत से सॉफ्टवर्स और APPs मौजूद है जिससे आप मोबाइल बैंकिंग का लाभ उठा सकते है और ये apps आप अपने प्ले स्टोर ,गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते है –

WAP  के माध्‍यम से प्रदान की जाने वाली  Mobile Banking –

WAP का फुल फॉर्म Wireless Application Protocol ,जिसमे इंटरनेट और स्मार्टफोन की मदद से मोबाइल बैंकिंग का लाभ उठाया जाता है ,इसके लिए या तो आप बैंक की official App download  करके इस्तेमाल कर सकते है ,या फिर कोई भी digital wallet app जैसे की paytm ,freecharge ,phonepay का इस्तेमाल कर सकते है ,

Bank की app इस्तेमाल करने के लिए आपको username और password की जरुरत पड़ती है ,और जब भी आप कोई transaction करते है तो आपको otp प्राप्त होता है ,ताकि यह सुनिशित किया जा सके की आप के द्वारा ही ट्रांसक्शन को पूरा किया जा रहा है ,

जिस तरह आप इंटरनेट  बैंकिंग में beneficiary add करके पैसे ट्रांसफर करते है ठीक उसी प्रकार आप इसमें भी पैसे ट्रांसफर कर सकते है ,इसमे सभी प्रकार के ट्रांसक्शन्स जैसे की IMPS ,RTGS ,NEFT का इस्तेमाल आप करसकते है ,

यदि आप digital wallet का इस्तेमाल कर रहे है  तो पैसे ट्रांसफर करने के लिए आपको बैंक अकाउंट नंबर जानने की भी जरुरत नहीं पड़ती केवल आपको जिसके अकाउंट में पैसे डालने है उसका UPI ID पता होना चाहिए ,केवल कुछ मिंटो में ही आपके पैसे ट्रांसफर हो जाते है.

USSD Code (Unstructured Supplementary Service Data) –

USSD Code का फुल फॉर्म Unstructured Supplementary Service Data होता है ,जिसका हिंदी में मतलब असरचात्मक पूरक सेवा डाटा होता है ,इसमें जो कोड दिए जाते वे सभी * से शुरू होकर # पर ख़तम होते है ,

इस सर्विस को यूजर बिना इंटरनेट के use कर सकते है ,जी हाँ आपने सही सुना बिना इंटरनेट के, पहले इसका इस्तेमाल सिर्फ मोबाइल बैलेंस का पता लगाने ,hello tune बदलने इत्यादि के लिए होता था ,लेकिन 2014 से इसका इस्तेमाल मोबाइल बैंकिंग में  भी किया  जाने लगा,अब बैंकिंग से जुडी हुई लगभग सारी जानकारी इसमें मौजूद है  ,

मोबाइल बैंकिंग के लिए USSD Code *99# दिया हुआ है ,जिसका इस्तेमाल आप बिना इंटरनेट और स्मार्टफोन के कर सकते है  ,और मोबाइल बैंकिंग  में मिलने वाली लगभग सभी  सुविधाएं जैसे की बैंक अकाउंट बैलेंस पता करना ,बिल का पेमेंट करना ,चेक़ुबूक रिक्वेस्ट करना ,चेक कैंसिल करना ,किसी को पैसे ट्रांसफर करना या मिनी स्टेटमेंट इत्यादि का उपयोग आप कर सकते है.

SMS Banking (एसएमएस पर मोबाइल बैंकिंग)

मोबाइल बैंकिंग के आ जाने से हमारी जिंदगी काफी सरल हो गयी है ,जिसकी मदद से हमे अब  केवल कुछ ख़ास कारणों को छोड़कर बैंक जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती ,आइये जानते है मोबाइल बैंकिंग द्वारा प्रदान की जाने वाली services कौन कौन सी है  –

Account Balance की जानकारी प्राप्त करना

कुछ साल पहले  लोग केवल पासबुक अपडेट करने के लिए बैंक जाया करते थे ,ताकि उन्हें अपने बैंक का बैलेंस पता चल सके ,फिर ATM के आजाने से लोग बैंक की बजाय ATM मशीन जाने लगे ,लेकिन जैसे ही मोबाइल बैंकिंग अस्तित्व में आया तो केवल SMS मात्र ,USSD  या फिर मोबाइल अप्प्स ले माध्यम से आप केवल कुछ मिन्टो में ही अपने बैंक का विवरण जान सकते है ,

Electronically पासबुक access करना है 

मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से अपनी पासबुक electronically माध्यम से प्राप्त कर सकते है जिसमे आपके सभी transactions लेन देन का ब्यौरा आप जान सकते है

Fund Transfer करना की सुविधा 

बैंको द्वारा प्रदान  की गयी  मोबाइल बैंकिंग की सुविधा से अब आप केवल कुछ मिंटो में ही किसी के भी  बैंक अकाउंट में पैसा ट्रांसफर कर सकते है ,अगर आप UPI का इस्तेमाल करते है तो आप बिना अकाउंट नंबर जाने बिना भी पैसे ट्रांसफर कर सकते है ,बस आपको सामने वाले का UPI id पता होना चाहिए

सभी तरह की Bill Payment की सुविधा

अब आप मोबाइल से लगभग सभी तरह के बिल का भुक्तान भी करसकते है जैसे की मोबाइल रिचार्ज ,DTH रिचार्ज ,इलेक्ट्रीसिटी का बिल इत्यादि ,यह सभी सुविधा ड़िजिटल वॉलेट जैसे की Paytm ,Freecharge और बैंक की खुद की apps  मौजूद है

नजदीकी ATM ,Bank Branch का पता लगाना 

आप अगर किसी अनजान जगह  पर है तो बैंक के offical app से आप अपने नजदीकी ATM तथा   बैंक ब्रांच का पता  लगा सकते है

अन्य Services की request करने की सुविधा 

अब  आप cheque ,Debit card , Credit card की request बिना बैंक जाए भी  कर सकते है ,बैंको द्वारा उनकी official App में यह सुविधा दी जाती है ,जिसकी मदद से आप इन सबकी request कर सकते है ,duplicate डेबिट कार्ड बनवाना हो ,चोरी होने में डेबिट कार्ड ब्लॉक करना हो,credit card की limit बढ़ानी हो ,ये सब आप बिना बैंक जाए कर सकते है

 

मोबाइल बैंकिंग और इंटरनेट बैंकिंग में क्या अंतर है –

  1. मोबाइल बैंकिंग और नेटबैंकिंग में इतना फरक है की मोबाइल बैंकिंग मोबाइल या tab के माध्यम से  apps  के द्वारा  की जाता है  हालांकि आप बिना apps के भी मोबाइल बैंकिंग USSD की मदद  से  कर सकते है   है जबकि नेटबैंकिंग करते  वक़्त  आपको desktop और  इंटरनेट कनेक्शन  की आवश्यकता पड़ती है
  2. नेटबैंकिंग में  आपको  browser  पर बैंक वेबसाइट का लिंक open करना पता है और   अपना username और password डालना पड़ता है ,फ़ोन पर भी आप ब्राउज़र के मदद से नेटबैंकिंग कर सकते है
  3.  मोबाइल बैंकिंग में आप  MMID की मदद से IMPS  पेमेंट भी कर सकते जिसका मतलब है की आप पैसा तुरंत दूसरे के अकाउंट में चला जाएगा आपको 24 घण्टे या बैंक खुलने का इंतज़ार नहीं करना पड़ता और यह सुविधा भी आप बिना इंटरनेट सेवा के भी प्राप्त की जा सकती है ,जबकि नेटबैंकिंग में आपको किसी भी प्रकार के  transaction के लिए इंटरनेट की आवश्यकता होती है
  4.  नेटबैंकिंग में रिचार्ज ,DTH रिचार्ज ,इलेक्ट्रिसिटी बिल इत्यादि जैसी सुविधाएं नई दी जाती जबकि मोबाइल बैंकिंग में यह सभी सुविधा मौजूद है
  5. मोबाइल बैंकिंग में  आप  केवल QR कोड माध्यम से किसी भी दूकान पर बड़ी आसानी से भुक्तान कर सकते है ,जबकि नेटबैंकिंग में यह संभव नहीं
  6. मोबाइल बैंकिंग का उपयोग करने के लिए आपका बैंक खाता आपके फ़ोन में पड़े सिम कार्ड नंबर से जरूर कनेक्टेड होना चाहिए ,जबकि नेटबैंकिंग का लाभ आप तभी उठा सकते जब आप बैंक खाता आपके मोबाइल नंबर से लिंक्ड नहीं है

मोबाइल बैंकिंग के फायदे (Advantages of Mobile Banking

मोबाइल बैंकिंग ने हमारे जिंदगी को काफी हद तक सरल बना दिया है ,अब न तो हमे जेब में पैसे रखे की जरुरत पड़ती है न ही पैसे डालने या भेजने के लिए बैंक जाने की जरुरत ,तो आइये जानते है मोबाइल बैंकिंग के क्या फायदा है –

  • मोबाइल बैंकिंग में आप बिना इंटरनेट के भी सिर्फ USSD के माध्यम से किसी को भी पैसे ट्रांसफर या प्राप्त कर सकते है
  • मोबाइल बैंकिंग के इस्तेमाल से आपके समय की बचत होती है
  • मोबाइल बैंकिंग से आप कभी भी बिना कोई शुल्क दिए अपने खाते का विवरण जांच सकते है
  • मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से आप कई तरीके के बिलो का भुक्तान कर सकते है
  • मोबाइल बैंकिंग में IMPS ट्रांसक्शन की सुविधा होने से  आप के द्वारा  भेजा हुआ पैसा  तुरंत उस व्यक्ति के बैंक खाते में चला जायगा जिसको आपने  पैसे भेजे है ,इसके लिए  उस  व्यक्ति  को  बैंक खुलने का इंतज़ार नहीं करना पड़ता

 

मोबाइल बैंकिंग के नुक्सान (Disadvantages of Mobile Banking)

दोस्तों मोबाइल बैंकिंग के फायदे  बहुत है और कुछ  नुक्सान भी आइये जानते है मोबाइल  बैंकिंग के कौन कौन से नुकसान  है –

  • अगर मोबाइल बैंकिंग करते वक़्त सावधानी न बरती जाए तो मोबाइल गुम या चोरी होने पर आपका डाटा चोरी किया जा सकता है
  • बैंक मोबाइल बैंकिंग के लिए खुदके सॉफ्टवर्स  बनाता है तो कई बार यह सॉफ्टवेयर सभी मोबाइल में नहीं चलते  इसलिए’ मोबाइल बैंकिंग का सम्पूर्ण फायदा उठाने के लिए आपके पास एक स्मार्टफोन होना बेहद आवश्यक है
  • सभी बैंक मोबाइल बैंकिंग की सुविधा नहीं देती ,बहुत से ऐसे छोटे बैंक है जो यह सुविधा प्रदान नहीं करते

मोबाइल बैंकिग को सुरक्षित कैसे बनाया जाए –

हालांकि बैंको  ने  मोबाइल बैंकिंग को काफी हद तक सुरक्षित  बनाया है और वो इस दिशा में प्रतिदिन कार्य किया करते ‘है  ,लेकिन फिर भी धोखाधड़ी के ;मामले सामने आते इसलिए हमे अपने सत्तर पर भी मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल करते वक़्त कई सावधानिया  बरतनी चाहिए ,आइये जानते है किन महत्वपूर्ण कदम को उठा कर हम मोबाइल बैंकिंग को सुरक्षित बना सकते है –

  • सबसे पहले तो अगर आप अपने फ़ोन में मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल करते है तो अपने मोबाइल फ़ोन और मोबाइल बैंकिंग app पर लॉक जरूर लगाए ,क्योंकि यदि आपका फ़ोन गुम या चोरी हो जाये तो आपका मोबाइल फ़ोन कोई खोल न पाए
  • अपना बैंक पिन, मोबाइल बैंक पिन इत्यादि जैसे पिन किसी के साथ भी साँझा न करे
  • किसी को भी फ़ोन पर अपना बैंक डेबिट कार्ड ,क्रेडिट कार्ड पिन,मोबाइल बैंकिंग पिन न दे बैंक कभी भी आपसे किसी भी प्रकार के लिंक की मांग नहीं करते
  • केवल जिस App का पता हो उसी को अपना data का एक्सेस दे ,बिना जांचे हर किसी App को डाटा एक्सेस देने से आपके डाटा के चोरी हो सकती है
  • मोबाइल फ़ोन की सारी App सिर्फ google play store से ही डाउनलोड करे

 

Conclusion

उम्मीद करते है आपको हमारा आजका यह पोस्ट अच्छा लगा होगा तो दोस्तों आज हमने सीखा की Mobile banking kya hai  ?और कैसे इसका इस्तेमाल किया जाता है,कौन कौन   से कार्य  है जो हम मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से कर सकते है   ,अगर  मिली हुई कुछ जानकारी की माने तो भविष्य में मोबाइल बैंकिंग क्रेडिट और डेबिट कार्ड की प्रणाली को पूरी तरह से  हस्तानान्तरित कर देगी,हम उम्मीद करते है की  भविष्य में मोबाइल बैंकिंग हमे डिजिटल सुरक्षा  के साथ और भी  सुविधाएं मौजूद करवाएंगी ,

दोस्तों यदि आपका हमारी पोस्ट से संब्धित कोई भी सवाल या सुझाव हो तो हमे कमेन्ट करके जरूर बताये हम जल्द से जल्द आपके सवालों के जवाब और सुझावों पर अमल करने की कोशिश करेंगे |

 

 

 

इसे यहाँ से Share करे :
  • 2
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    2
    Shares

This Post Has 0 Comments

Leave a Reply