Assets और Liabilities क्या होते है – What is Assets and Liabilities

what is assets and liabilities

what is assets and liabilities? हैलो दोस्तों Investmantra में आपका स्वागत है | दोस्तों क्या आपने कभी सोचा है balance sheet में दिखने वाले Assets और liabilities आखिर  क्या होते है ? अगर आप Stock Market में निवेश कर रहे है या फिर करना चाहते है तो आपका यह जानना बेहद जरुरी है यहां तक की अगर आप निवेश नहीं भी करना चाहते है फिर भी आपका जरूर जानना चाहिए क्योकि यह आपकी financial मजबूती को दर्शाता है तो दोस्तों आजकी हमारी यह पोस्ट Assets और liabilities के बारे में है आइये विस्तार में जानते है –

Assets और Liabilities क्या हैं – What is Assets and Liabilities?

Assets और liabilities दोनों ही  Accounting term है | जिसे अक्सर लोग समझने में गलती कर दिया करते है | यहां तक की कुछ लोग assets को अच्छा और liabilities को बुरा मान लिया करते है जो की एक गलत धारणा है आइये हम इन दोनों terms की Technical definition जानते है –

Definition of Assets

Assets ऐसे goods और services होते है जिसमे किसी व्यक्ति या company का स्‍वामित्‍व होता है जो आपको आपकी pocket में पैसा डाल के देता है या फिर भविष्य में आपको लाभ देता है उदाहरण  के लिए आपका घर एक asset है अगर आपको अपने घर से किराया आता है | आप assets को सम्पति भी कह सकते है जिसमे आपका स्‍वामित्‍व  है |

For Example :-Land, stocks,bonds,goodwill,furniture etc

Types of Assets:

यह दो प्रकार के होते हैं:

  • Non – Current Assets(Fixed Assets)
  • Current Assets

 

Non – Current Assets

Non Current Assets को Fixed assets भी कहा जाता है | Non Current Assets वह Assets होते है जिसे Company Long Term के लिए रखती है इसकी अवधी 1 वर्ष से कम नहीं होती |

अगर दूसरे शब्दो में कहे तो Non Current Assets वो assets होते है जो company को लम्बी अवधी तक पैसा कमा कर देते है वह भी बिना अपनी वैल्यू कम किये | जैसे की आपके पास कोई land ,machinery ,gold है जो आपको long term profit provide करेगा बिना अपनी वैल्यू कम किये|

Non Current Assets निम्नलिखित प्रकार के होते हैं –

  1. Tangible Fixed Assets
  2. Intangible Fixed Assets

Tangible Fixed Assets: Tangible Assets वो assets होते है जिसे हम देख  सकते छू सकते है जैसे की land ,building, gold इत्यादि सभी  Tangible assets हैं जिसे हम देख सकते है इन्हे Physical assets भी कहा जाता है |

Intangible Fixed Assets: Intangible Fixed Assets वो assets होते है जिसे न  हम देख सकते न ही छू सकते हैं | जैसे की आपकी Credibility (विश्‍वसनीयता) मान लीजिये आपको या किसी कंपनी को अपने business के विस्तार करने के लिए loan लेने की आवश्यकता पड़ती है और लोन आपको तभी मिलता अगर आपकी Credibility सही होगी | 

इसी प्रकार आपकी Credibility आपका Intangible Assets है

Current Assets

Current assets वह assets होते है जिसे कंपनी एक financial year या उससे भी कम अवधी तक अपने पास रखती है | इन्हे short term assets भी कहा जाता है | क्योंकि ये कुछ समय तक ही लाभ देते है और बाद में इनकी वैल्यू खत्म हो जाती है | इसलिए अगर कोई कंपनी Current assets को limited समय से ज्यादा समय  के लिए use करती है तो उसकी वैल्यू शून्य हो जाती है |

उदाहरण के लिए मान लीजिये आपकी दूकान है और आपने अपने पास बेचने के लिए सामन खरीदा है तो वो सामान की वैल्यू तब तक ही है जब तक उसकी expiry नहीं हो जाती | expiry के बाद आपको कोई फायदा नहीं होगा क्योंकि कोई उस सामन को नहीं खरीदेगा |

Liabilities क्या होता है – What are Liabilities?

Liabilities का हिंदी मे मतलब  होता है दायित्व ऋण या कर्जा | अगर आपको किसी के पैसे लौटाने है तो वह Liabilities कहलाता है अक्षर हम कभी न कभी किसी से कर्ज़ा या बैंक से लोन लेते है तो वो हमारी Liability कहलाता है | क्योकि वह पैसा हमको वापिस भी देना पड़ता है | इसी तरह जब किसी कंपनी को दूसरी कंपनी या बैंक को पैसा लौटाना होता है तो वह कंपनी की Liability कहलाता है |

Liabilities दो प्रकार के होते हैं-

  • Non-current Liabilities
  • Current Liabilities

Non-current Liabilities: Non-current Liabilities वह Liabilities होती है जिसे एक financial year से भी ज्यादा लंबी अवधी में चुकाना होता  है | Non-current Liabilities अंतरगत वह कर्जा या दायित्व आता है जिसे आप धीरे धीरे चुकाते है |

मान लीजिये आपने house Loan लिया है तो यह आपका Non-current Liabilities के अंतर्गत आता है क्योंकि house loan चुकाने में आपको एक financial year  से ज्यादा का समय लगता है |

Current Liabilities: Current Liabilities वह Liabilities होती है जिसे आपको short time में चुकाना पड़ता है | अगर सरल भाषा में कहे तो यह वह Liabilities होती जिसको हमे एक financial year या उससे भी कम अवधि में चुकाना पड़ता है |

आप इसके बहुत से उदाहरन देख सकते है जैसे की आइये जानते है –

  • आपके बच्चो की School Fees
  • Electricity Bills
  • Driver की सैलरी
  • house Rent

ऊपर दिए गये सभी examples current और short term Liabilities के है |

Conclusion

दोस्तों अगर आप stock market में कंपनी की analysis करना चाहते है तो balance sheet में आपको  दोनों assets और Liabilities देखने को मिलेंगे और आपको इसके बारे में जानना बेहद जरुरी है |

तो दोस्तों आज हमने जाना की Assets और Liabilities क्या होता है  आशा है आजकी यह हमारी पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी |

यदि आपका पोस्ट से संब्धित कोई सवाल या सुझाव है तो हमे कमेन्ट करके जरूर बताये हम जल्द से जल्द आपके सवालों के जवाब और सुझावों पर अमल करने की कोशिश करेंगे |

 

Yogesh Singh

नमस्कार दोस्तों, मैं Yogesh , Investmantra (इंवेस्टमंत्रा ) का Author & Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Computer Graduate हूँ. मुझे Finance से सम्बंधित नयी नयी चीज़ों को सिखने के साथ साथ भारत सरकार की विभिन्न योजनाओ के बारे में दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरा 'उद्देश्य' है की भारत के प्रत्येक नागरिक को finance की knowledge होनी चाहिए |

View all posts by Yogesh Singh →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *