निफ्टी क्या होता है (What is Nifty in Hindi) – इसकी गणना कैसे होती है

What is Nifty in Hindi

हेलो दोस्तों ! हमने आपको अपनी पिछली पोस्ट में बताया था सेंसेक्स  क्या होता है और कैसे काम करता है ?आज हम जानेगे की निफ़्टी क्या होता है(What is Nifty in Hindi)?  कैसे काम करता है और इसकी गणना कैसे होती है |

आपने अक्सर टीवी ,न्यूज़ और अखबार पर देखा होगा निफ़्टी इतना अंक नीचे गया इतना ऊपर गया लेकिन क्या आपको पता है की  निफ़्टी की वैल्यू हमे क्या बताती है | इसके बारे में हमे क्यों पता होना चाहिए | इसके ऊपर नीचे जाने से क्या फरक पड़ता है | तो चलिये विस्तार में जानते है निफ़्टी क्या होता है |

निफ़्टी क्या है (What is Nifty in Hindi )?

Nifty का full form National Stock Exchange Fifty है और इसे National Fifty के नाम से भी जाना जाता है क्योँकि यह दो शब्द National और Fifty को मिलाकर बना है | Nifty 50 NSE (National Stock Exchange) में लिस्टेड Top 50 कंपनियों के पर अपनी नज़र रखता है और यह NSE की  शिर्ष  ५०  कंपनियों  का सूचकांक है  जो कि हमे बाजार की स्थिति से अवगत करवाता  है |

ये उन 50 शेयर्स पर होने वाली तेज़ी और मंदी पर अपनी  नज़र रखता है और उनके आधार पर अपना इंडेक्स वैल्यू तैयार करता है |निफ़्टी 50 में चुनी जाने वाली कंपनियों का Market Capitilization दूसरी कंपनियों के  मुकाबले अधिक होता है और ये 12 अलग-अलग सेक्टर से ली गयी होती है |

निफ़्टी कैसे काम करता है

National Stock Exchange भारत का एक प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज है जो की भारत का सबसे पहला fullly Computerized स्टॉक एक्सचेंज भी है | National Stock Exchange में लगभग 2000 से भी ज्यादा कम्पनिया लिस्टेड है |

एक समय पर 2000 से भी अधिक कंपनियों पर नज़र रखना काफी मुश्किल है | Nifty NSE का सूचांक है और इसलिए Nifty में सिर्फ शिर्ष की 50 कंपनियों को ही रखा जाता है जो कि 12 अलग अलग सेक्टर्स से होती है |

Note: Nifty 50 कंपनियो का चुनाव Index committee द्वारा किया जाता है इस committee में बैंक ,सरकार,म्युचअल फण्ड मैनेजर और अर्थशास्त्री शामिल होते है |

 

ये 50 कंपनिया अपनी मार्किट कैप के लिहाज़ से पूरे बाज़ार का 60% भाग होती है | इसलिए पूरे बाजार का हाल सिर्फ इन कंपनियों के शेयर्स की हलचल से ही पता चल जाता है | निफ़्टी की नज़र इन 50 कंपनियों के शेयर्स पे होती है | जब यह शेयर्स ऊपर जाते है तो निफ़्टी इंडेक्स की वैल्यू भी ऊपर जाती है और विपरीत परिस्थितियो में नीचे भी चली जाती है |

 

निफ्टी की गणना कैसे की जाती है (How Nifty is Calculated in Hindi) ?

निफ्टी की गणना भी सेंसेक्स की गणना की तरह ही होती है बस इसमें Base year को 1995 लिया जाता है और Base इंडेक्स को 1000 माना जाता है |निफ्टी की गणना करने से पहले में आपको मार्किट कैप (Market Capitalization)और फ्री फ्लोट मार्किट कैप(Free float Market Capitalization)  क्या होता है ?  ये जानना होगा  |

मार्किट कैप कंपनी की कुल कीमत को दर्शाता है जो की किसी  कंपनी के चल रहे मौजूदा शेयर की कीमत को कंपनी के सारे उपलब्ध शेयर से  Multiply करके निकलता है |

मान लीजिये एक xyz कंपनी है जिसके एक शेयर की मौजूदा कीमत Rs 100 है ,और उस कंपनी के कुल शेयर की संख्या 10000 है  तो उसका मार्किट कैप 100*10000=Rs 1000000 हो जाता है

 

Market Capitalization = Total no. of Shares issued by a Company × Current Share Price of One Share

 

में आपको बता दू एक कंपनी में कई तरीके के निवेशक होते है उनमे से प्रोमोटर्स भी होते है जिनके शेयर्स मार्किट में बेचे और खरीदे नहीं जाते |

फ्री फ्लोट मार्किट कैप में उन शेयर्स को मौजूदा शेयर की कीमत से Multiply  किया जाता है जो की शेयर्स खरीदने और बेचने के लिए उपलब्ध हो |

मान लीजिये एक xyz कंपनी है जिसके एक शेयर की मौजूदा कीमत Rs 100 है ,और उस कंपनी के कुल शेयर की संख्या 10000 है   और  प्रोमोटर्स  के पास  कंपनी के 2000 शेयर्स है तो उसका मार्किट कैप 100*10000=Rs 1000000 हो जाता है और उसका फ्री फ्लोट मार्किट कैप 100*8000=Rs 800000

Free Float Market Capitalization=Total no of shares available for trading * Current Share Price of One Share

जब हम निफ़्टी की गणना करते है तो शिर्ष 50 कंपनियों के Free Float Market Capitalization को मिला देते है और उसको 1995 के निफ़्टी इंडेक्स 1000 से Multiply कर देते है और मान लीजिये 1995 में  बाज़ार का मार्किट कैप 5000 था तो उसको 5000 से divide  कर देते है |

Nifty Index=Sum  Of free float market capitalization * index value in 1995/market cap in 1995
यहाँ पर इंडेक्स वैल्यू 1000 है और मार्किट कैप 5000  है |

 

Nifty और Sensex में क्या अंतर है

निफ़्टी और सेंसेक्स दोनों शेयर बाजार के इंडेक्स है जो बाजार की तेज़ी और मंदी को दर्शाता है | सेंसेक्स जहा Bombay Stock Exchange पे लिस्टेड शिर्ष 30 कंपनियों पर अपनी नज़र रखता है वही निफ़्टी National Stock Exchange के शिर्ष 50 कंपनियों पर अपनी नज़र रखता है | ज्यादा मार्किट कैप की वजह से निफ़्टी को ज्यादा विश्वासरूपी माना जाता है |
इन दोनों इंडेक्सो पूरी दुनिया की नज़र रहती है और इनके बढ़ने पर विदेशी निवेशक भी बढ़ते है |

NIFTY के फायदे

  • निफ़्टी के माध्यम से निवेशक को बाजार की सटिक जानकारी मिल जाती है | जिसकी मदद से वह बाज़ार में निवेश में एंट्री या एग्जिट ले सकता है अगर उसका निवेश Large Cap में है तो |
  • निफ़्टी इंडेक्स अगर बढ़ रहा है तो इसका मतलब है कंपनिया अच्छी ग्रोथ कर रही है और भविष्य में संभवत रोजगार बढ़ने की उम्मीदे है |
  • निफ़्टी के माध्यम से देश की अर्थव्यवस्था का आसानी से पता जाता है अगर निफ़्टी ऊपर जा रहा है तो देश की अर्थव्यवस्था भी मजबूत होती है |
  • पूरे दुनिया की नज़र भारतीय बाज़ार पे रहती है और जब निफ़्टी ,सेंसेक्स ऊपर जाते है तो foreign निवेशक भी भारतीय बाज़ार में अपना पैसा लगाते है जो कि हमारी अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाता है और कंपनियों के मार्किट कैप को भी बढ़ाता है |

निफ़्टी  की  सूचीबद्ध (List of Nifty 50 Companies)

Industry Company Name Weightage (%)
Automobile Bajaj Auto 0.86
Hero MotoCorp 0.69
Eicher Motors 0.6
Mahindra & Mahindra 1.27
Maruti Suzuki India 1.87
Tata Motors 0.82
Financial Services Axis Bank 3.16
HDFC Bank 10.53
ICICI Bank 5.55
IndusInd Bank 1.74
Kotak Mahindra Bank 3.91
State Bank of India 2.45
Yes Bank 0.66
Bajaj Finance 1.55
Bajaj Finserv 0.96
HDFC 6.95
Indiabulls Housing Finance 0.49
Cement Grasim Industries 0.75
UltraTech Cement 1.02
Cigarettes ITC 5.46
Information Technology HCL Technologies 1.36
Infosys 6.03
Tata Consultancy Services 5.01
Tech Mahindra 1.11
Wipro 0.95
Consumer Goods Hindustan Unilever 2.65
Britannia Industries 0.72
Titan Company 1.02
Asian Paints 1.39
Engineering Larsen & Toubro 3.51
Metals & Mining Coal India 0.89
Vedanta 0.64
JSW Steel 0.66
Hindalco Industries 0.64
Tata Steel 0.89
Energy ONGC 1.08
NTPC 1.15
Power Grid Corporation of India 0.91
BPCL 0.63
Indian Oil Corporation 0.79
Reliance Industries 10.07
GAIL (India) 0.68
Fertilizer UPL 0.75
Pharma Cipla 0.61
Dr. Reddy’s Laboratories 0.75
Sun Pharmaceutical Industries 1.07
Shipping Adani Ports 0.65
Media & Entertainment Zee Entertainment Enterprises 0.51
Telecom Bharti Infratel 0.47
Bharti Airtel 1.15

 

Conclusion

आज हमने सीखा की निफ़्टी क्या होता है (what is nifty in Hindi) कैसे काम करता है ? दरहसल निफ़्टी भारत की अर्धव्यवस्ता का भी सूचक है तभी पूरी दुनिया की नज़र इस पर रहती है | आशा है आपको हमारी आज की पोस्ट समझ में आई होगी अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप  हमे कमेंट करके जरूर बताये |

 

Yogesh Singh

नमस्कार दोस्तों, मैं Yogesh , Investmantra (इंवेस्टमंत्रा ) का Author & Founder हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Computer Graduate हूँ. मुझे Finance से सम्बंधित नयी नयी चीज़ों को सिखने के साथ साथ भारत सरकार की विभिन्न योजनाओ के बारे में दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरा 'उद्देश्य' है की भारत के प्रत्येक नागरिक को finance की knowledge होनी चाहिए |

View all posts by Yogesh Singh →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *